Assam tea

Direct From Assam

Buyers Review
Poor:
Average:
Good:
Very Good:
Excellent:







Why People loves tea !!??


I am personally not very fond of tea. Be it Assam tea or world famous Darjeeling tea. I take 2/3 cups of tea a day. Even if I don't drink tea at all does not matter. Tea is like any other drink for me. But for my family members and guest, I buy tea. Generally from online stores like www.flipkart.com, www.assamteasellers.in or www.amazon.in www.assamteasellers.in delivers directly from their factory so price is cheaper and my guests and family members say it is better than others. But, I can not differentiate. Tea is not tasty, if you do not use milk and sugar. I always wonder what and why people are so fond of tea. I have seen 100s and 1000s of tea websites, tea forums, many not profit making voluntary sites on tea. in our childhood, tea was only drunk by elderly people and milk was for children. We were always warned against drinking tea. Now it is exactly opposite. Everyone says tea has got medicinal value. But I think it has got medicinal value only when you have got dysentery or you do not want to sleep. Some people has jumped one step ahead. They started Herbal Tea, Bamboo Tea and what not. All our life, we knew tea is made from tea tree or tea bush without mixing anything, its automatically herbal. Tea is made from camellia sinensis. {Hope my spelling is correct.} Not from bamboo {I don't know bamboo's latin name.} So how can one call bamboo leaf juices as tea ? So confusing and so popular !!

Aditya


How Much Investment Required For Tea Dreg Business.


Rs 2000 investment Tea Dreg Business.
You have read it correctly, Rs 2000 investment tea dreg business. You do not require to invest a paisa more but you can start high return business on tea.
In an average, Indian family uses one kg in a month. After making a cup of tea, most of the people through the drags on drains.
Tea is such a product, which has got multiple uses.
You can make a cup of tea and drink it, after drinking it you can use used tea for many uses. 1. Organic Fertilizer Like all green matters, the residue of tea made or tea dregs contains sufficient nitrogen for plant growth.
You can buy tea drags from tea stall owners and sell it in your own packet of half kg, 1 kg as organic fertilizer.
2. Odour prevention-- Put tea drag in a small porous bag. Wherever you find foul odour, put a bag there.
This tea dreg bag will soak all odour from its surroundings.
You can make 50 gram, 100-gram bags with your brand name on it and sell it in the market as natural foul odour repellent.
3. Tea contains tanning, Tanning can soothe small cut, burns and other irritations.
The way Boroline, Vaseline works.
Here, you can make a paste of tea dregs and sell it in the market.
Remember, if you to sell it as medicine, you will require to follow Govt medicine control rules.
4. Tannins are a natural meat tenderizer. Use can use tea dregs marinade any meat. Just marinade your meat in the fridge for the whole night before cooking.
It is another option of low-cost tea business.
5. Tea as cosmetics. Glossing your hair. Add half liter water to 10 grams tea dregs, keep it to cool and then wash your hair with that in the shower.
The caffeine present in tea helps you promote your hair growth and made it glossy.
6. Mix 10 grams of tea dregs, in a hot, steamy water bowl.
Place your face over the bowl and cover your head with a towel for five to ten minutes. This will hydrate and tone your skin to glow. These are a few uses of tea other than as drinks. You can check the efficacy by using it on yourself.
If you are satisfied, you can start it in your surrounding area.
When you start getting more and more demand goes on increasing investment and market.
A word of caution, since all these businesses are directly related to plants and the human body, so be very careful about the purity of tea dregs.
In addition to your, collect it only from reliable sources, say from your neibour who is at least as careful as you are.
Please also check Govt regulations regarding Cosmetics and medicine.


Sandip Paul

चाय के लिए सही थोक व्यापारी का चयन कैसे करें ?


चाय के लिए थोक व्यापारी का चयन करना हमेशा मुश्किल होता है ।
अलग-अलग आपूर्तिकर्ताओं की सभी चाय लगभग एक जैसी दिखती है ।
लेकिन अगर आप इस सभी संकेत को ध्यान में रखते हैं, तो आप आपूर्तिकर्ता का चयन करने के लिए समस्या का सामना नहीं करेंगे चाहे वह स्थानीय हो, अंतरराज्यीय या अंतर्राष्ट्रीय ......थोक व्यापारी किउं न हो ।
चाय का चयन करते समय, इसे अपनी आंखों के स्तर पर लाएं, पता करें कि क्या दानों पर कोई चमक है? यदि आप चाय पर खिलते या दमकते या नमकीन लगते हैं, तो यह निश्चित रूप से अच्छी गुणवत्ता है ।
A. सबसे पहले, आपके द्वारा चुने गए आपूर्तिकर्ता के पास सबसे अच्छी प्रस्ताव और शुद्ध गुणवत्ता की गारंटी वाली चाय होनी चाहिए । थोक व्यापारी गारंटी देंगे, निर्माण प्रक्रिया के दौरान चाय पत्ती को हाथ से चुना गया और मशीन से काटें और किसी के द्वारा छुआ नहीं गया ।
अधिक छुआ, दमक का अधिक नुकसान । B. आपूर्तिकर्ता की ख्याति--- आमतौर पर, प्रतिष्ठित आपूर्तिकर्ताओं, अधिक संभावना, बेहतर गुणवत्ता, बेहतर कीमत ।
रातों-रात लाभ कमाना आपूर्तिकर्ताओं, कम कीमत, कम गुणवत्ता और सबसे ऊपर पर कोई आपूर्ति नहीं और निवेश की घाटा ।
आपूर्तिकर्ताओं का चयन करने से पहले-
1. आपूर्तिकर्ताओं को चाय पर कोई अतिरिक्त रंग या गंध नहीं होना चाहिए ।
2. चाय प्राकृतिक स्वाद और रंग से भरपूर होनी चाहिए ।
3. यदि चाय शुद्ध है, तो यह औषधीय महत्व से भरा होगा ।
यदि संभव हो, तो, कभी-कभी प्रामाणिक प्रयोगशाला में चाय का परीक्षण करें, कम से कम कुछ नमूने ।
4. यदि यह पाया जाता है कि चाय कीटनाशक या अन्य हानिकारक रसायनों से मुक्त है, तो यह निश्चित रूप से अच्छी गुणवत्ता वाली चाय है ।
5. चाय की पैकिंग एयरटाइट होनी चाहिए । जाँच करें, कि थोक व्यापारी ने इसे सूखी और नमी रहित जगह पर स्टॉक किया है ।
6. अधिक फाइबर, गुणवत्ता कम
7. उत्पादन की तारीख - यह एक माना हुआ तथ्य है कि उत्पादन और पैकिंग की तारीख से एक साल तक चाय ताजा और पीने योग्य रहती है ।
इसलिए बनाने की तारीख की जाँच करें ।
चाय बाजार एक विशाल बाजार है और सभी प्रकार चाय की खपत होती हैं । यह उच्च गुणवत्ता या ​​कि आधा दूषित हो ।
अब, जब आप अपनी चाय खरीदने के लिए तैयार हैं, आपको यह देखना होगा कि विक्रेता कितने प्रकार की, किस कीमत में चाय दिखा रहा है ? उसका जानकारी, अनुभव देखना होगा ।
 आपको यह तय करना होगा कि चाय के लिए सबसे सस्ती दर के साथ जाना है या सबसे अच्छा स्वाद के साथ जाना है, जो थोड़ा महंगा होगा ।
दुनिया भर में अधिकांश चाय खुदरा विक्रेता या थोक व्यापारी अलग अलग गुणवाता की चाय रखते हैं ताकि आपको विकल्प मिलें ।
थोक विक्रेताओं की वेबसाइट ध्यान से देखें, अगर आपको समझ नहीं आ रहा है तो फिर उससे खुलासा जाने ।
यदि आप देखते हैं कि विक्रेता सहायक है, जानकार है, तो आप उसके साथ व्यापार कर सकते हैं ।
यदि उनकी वेबसाइट में दिया गए जानकारी अच्छी और भरोसेमंद लगती है, तो आप उन पर व्यापार के लिए भरोसा कर सकते हैं ।
अब आप उसकी चाय के नमूने देख सकते हैं ।
यदि नमूना अच्छा है तो आप उसके साथ व्यवसाय शुरू कर सकते हैं ।
हमेशा अधिक से अधिक चाय आपूर्तिकर्ताओं से अधिक से अधिक नमूनों की जाँच करे ।
यदि आपके खरीदार पुराना, बासी, बेस्वाद चाय पसंद करते हैं, तो आपको बासी चाय आपूर्तिकर्ता का पता लगाना होगा ।
चाय चुनने के लिए उपरोक्त दिशानिर्देशों को याद रखें, आप सही मूल्य पर और सही आपूर्तिकर्ता से सही चाय खरीद पाएंगे ।
आपको चाय व्यवसाय की शुभकामनाएं........


Vinit

How to Select Right Supplier for Tea.


How Selecting suppliers for tea can be sometimes difficult.
But there are few tips to be kept in mind while the selection of your tea.
The first thing that a specialist of tea notice is selecting a tea on its “bloom” or “halo”. Some use the term “halo” while others use “bloom”.
When you select your tea, hold your tea up at the eye level within the light, find out, if the tea showing any glaze or bloom. If you find bloom or glaze or halo on the tea, it is definitely good quality.
Now check the following points when selecting your tea, be it local, interstate or international......
First of all, The supplier you select must have the best offer and purest quality guaranteed tea. Tea should be hand harvested and machine made and free of human touch during the manufacturing process.
2. Suppliers' Reputation--- Generally, reputed suppliers, better dealings, prices and authentic quality.
Shabby suppliers, low price, low quality and may be No Supply at all and Loss of Money.
before selecting suppliers are-
1. Tea leaves must be free from artificial ingredients. Manufacturer or supplier must not have mixed any artificial colour or artificial fragrance without your express permission.
2. It must be rich in natural tea taste and tea aroma. Proper harvesting and manufacturing will make it rich in every respect.
3. It must have medicinal value. Tea in pure form and particularly when it did not come in contact with any chemicals has got very high medicinal value. If possible, at least once in a while, get the sample tea tested for chemical residue in laboratories.
4. It must be healthy for daily use. If a laboratory test confirms that it does not contain residue of pesticide or insecticide or any other harmful content, it is healthy for everyone.
5. Package of storage must be airtight. So that it does not acquire moisture or unhealthy substance.
6. Date of manufacturing --It is an established fact that tea remains fresh and consumable one year from the date of manufacturing and packing.
date of manufacturing is written on every pack of tea.
Please do not forget to check it with your supplier before buying it.
Tea market is a VAST market and all types of tea are in demand always. Be it high quality or even half contaminated quality.
Basically, the types of tea supplier you choose will depend on the market you want to cater to.
Now, when you are ready to buy your tea, you have to see the price, variety of stock tea, availability, knowledge or experience of a supplier in the marketing of tea.
You have to decide whether to go with the cheapest rate for tea for or to go with the best taste and flavor, which will be a little expensive.
Most tea retailers or wholesalers keep a stock of a range of tea varieties across the world so that you can choose from different teas.
If you are still hesitant about a particular supplier and wants to know more information about supplier or delivery times, then contact their site and see their response time.
If their response time is very long or does not even respond to your question,
( They may be selling big quantities and understaffed.)
you can expect a similar response when you actually order tea.
If their site looks good with all provided contacts and information, then you may trust them with your tea delivery.
Order them to send tea sample if it builds you trust and fulfill your taste or requirement, buy stock from them.
Tea leaves come with some amount of stalks, which is called “fiber” in CTC style tea. The finest tea leaves are free of them.
More the fiber, lower the quality
Remember the above guidelines to choose tea, you will be able to buy the right tea at the right price and from the right supplier.


Vinita

असम।


मेरा पता? पता नहीं क्यों जब भी कोई मेरा पता पुछता हैं एक लम्बे -चौड़े पते के बाद बड़े ही जौश से सिलचर असम क्यों बोल देता हूँ? बावजूद इसके कि मैं अकसर कहता हूँ कि मुझे असम पसंद नहीं जब भी अखबार के खास खबर मे इस शब्द को देखता हूँ पता नहीं क्यों मेरे आँखे बड़े हो जाते हैं।

"असम" नौर्थईस्ट के सात बहनो मे एक बहन। ऊची-ऊची पहाड़े, टेढ़े- मेढ़े रास्तों के साथ-साथ यह एक और विशेषता के लिए भी प्रसिद्ध हैं, वह हैं 'चाय पत्ति' । चाय बस सेवन का ही ज़रीया नहीं हैं कुछ लोग इसे महोब्बत कहते हैं, कुछ लोग जिने का आधार और जाने कितने लोगो के लिए यही चाय जीवन शैली भी हैं।

मेरे सौभाग्य के साथ-साथ यह दूर्भाग्य भी हैं कि मैं उस गाँव से आता हूँ जिसके चारो तरफ़ जहाँ-जहाँ नज़र जाता हैं बस 'चाय बागान' नज़र आता हैं। पर कहते हैं न जब कौई चीज़ जरूरत से ज्यादा मिले तब उसका मौल घट जाता हैं। शायद यहीं हुआ मेरे साथ, काफी सालो पहले मैने चाय पिना छोर दिया। लेकिन इस बात को मना नहीं कर पाया कि चाय मोहब्बत से कम नहीं हैं -

जब यह मिट्टी के कप या कॉच के गिल्हास में उतरता हैं तब मेले से इस दुनियाँ में अकेलेपन का साहारा बन जाता हैं। कप्-प्लेट पर उतरे तो मेहमाननवाज़ी का कर्ज अतार देता हैं। दिन भर के थके जब घर लौटते यह एक बिस्कुट सन मिल पूरे परिवार को १०मिनट के लिए जोर देता हैं। कितने अजनबीयों को बार बार मिलाकर यह नूक्कड़ या चौराहे पर दोस्त बना देता हैं। जब बेरोज़गारी पर जश्न हो तो फ़ाईब स्टार हॉटेल का खाना यह पाँच रुपए के समोसे सन बन जाता हैं।

यह रहस्य हैं कि अक्सर बहुत लोगो का घर भी यह चाय ही चलाता हैं, फ़िर वह "छोटू" ही क्यों न हो जो अपने घर का बड़ा हैं या वह अंकल जिंका अपना छोटा एक दूकान हैं। उस औरत के बारे में आप जांते हो क्या जो अपने बच्चे को छाती से लगा पत्तो का जूगाड़ करती हैं ? वह अनगिनत हाथ जो मशिनों से रोज़ जद्दोजहत करती हैं।

इस कप से जो एक चुस्की अभी आपने लि हैं, यकिन करो हज़ारो लोगो का मेहनत और उम्मिद इसमें पनपता हैं। कभी वक्त मिले तो अपने कॉर को पार्किंग में डाल रास्ते का चाय जरूर पिना I #beautifulnature वाले तस्वीरो में उसका ध्यान रखने वाले उन कर्मचारीयो को भी शामिल करना। अब जब भी चाय पिए इन बातो को जरूर सोचना । और हाँ! हो सके तो चाय जरूर पिना।



अर्धेन्दु भट्टाचार्य (सेहर)

Herbal Tea is Not Tea At All


Health Benefits of Herbal Tea

Tea - is the start of the day for most of the people.
Hope most of you agree on this, don't you?
There are possibly different kinds of tea powders available in the market today and also there are different ways making tea.
Each one gives you a different taste to enjoy.
One of those different kinds of tea powders that are available in the market today is Herbal Tea Powder.
Herbal tea is consumed from ages and there are a number of health benefits due to the use of herbal tea.
This kind of tea is also called as Ayurvedic tea and is available in different kinds as each is made using different ingredients.
It is just due to the numerous health benefits that are offered by the herbal tea, it is getting more and more these days even it is present for more than 5000 years.
Here is the list of health benefits of herbal tea:
Best for Diabetic patients:
Diabetes is a very common health issue face by many people across the globe.
This is chronic health issue and has no permanent cure.
You need make sure that the sugar levels in the body are in control and a herbal tea can help you do that.
Benefits immune system:-
Herbal tea powders are made with some citrus fruits as well, like grapes, oranges and lemon.
Using this kind of herbal tea will enhance immune system and also will prevent the seasonal diseases like common cold and flu.
Blood pressure under control:-
If you are someone with high blood pressure, then herbal tea can be a good choice for you.
This is one of the most common health alignments faced by both men and women across the world.
This health issue can in turn lead to other health issues.
Hibiscus is present in herbal tea and that can control the blood pressure.
Weight loss:-
There are many kinds of herbal tea that has helped many people lose weight in a healthy way.
Tea improves health digestion and flushes out all the toxins in the body and hence you will be able to lose weight in a healthy way.
Stress free:-
Herbal tea can help you get relief from stress and tension.
They use certain kinds of flower extracts that can help in getting relief from stress and tension and also will help in solving sleep disorders like insomnia.
Overall, herbal tea will make sure to cleanse the body and provide a number of health benefits. Buy herbal tea today and enjoy the health benefits!!!
We extensively searched internet for finding out benefits of Herbal Tea and truth about its benefit.
Very honestly, we did not get any reason or scientific study to believe benefits of Herbal (so called) Tea.
Any normal tea or fruit juice is more benificial than those so called Tea.
However, we have listed those so called benefits of Herbal (so called) Tea. Now judge yourself.


Lavanya

चाय पर रंग


सबसे पहले, आपको याद रखना चाहिए, चाय ऐसा एक चीज़ है जिसको बनाने के टाइम पे कोई भी केमिकल मिलाया नहीं जाता।
कोल्ड ड्रिंक्स, मिठाई, चनाचूर आदि इये सब बनाने के टाइम में कलर मिलाया जाता है, लेकिन चाय हमेसा १०० प्रतोशोद प्राकृतिक चीज़ो से बनती है।
इसमें कभी भी कोई बाहरी चीज़ मिले नहीं जाती है। यह हमेशा अद्वितीय निर्मल शुद्ध उत्पाद है।
हम सख्ती से चाय के साथ किसी भी रंग का मिश्रण नहीं करने की सलाह देते हैं।
एफ एस एस ए आई, खाद्य सुरक्षा के लिए एक सरकारी संस्था ने कुछ खाद्य पदार्थों जैसे मिठाई, फलों का रस, शीतल पेय, आइसक्रीम आदि पर अनुमेय रसायनों को मिलाने के दिशानिर्देशों के भीतर अनुमति दी हैं।

चाय पर FSSAI 2011 विनियमन 2.10.1 (1) में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि "उत्पाद बाहरी पदार्थ, अतिरिक्त रंग और हानिकारक पदार्थों से मुक्त होगा"

कुछ व्यवसायी बिस्मार्क ब्राउन, पोटेशियम ब्लू, हल्दी, इंडिगो, प्लंबैगो आदि को रोचक चाय का रंग बनाने के लिए या खिलती चाय की तरह देखने के लिए मिलाते हैं।
कम गुणवत्ता वाली चाय या इस्तेमाल की गई चाय को नए सिरे से देखने और उसकी कीमत बढ़ाने के लिए रंग मिलाया जाता है।
आम तौर पर पेंसिल का सुरमा या प्लम्बैगो, बहुत कम गुणवत्ता वाली चाय के साथ मिलाया जाता है।
पेंसिल लेड या अन्य रंग के पदार्थ को मिलाना वास्तव में आसान है। वे इसे केवल सूखे रूप में खरीदते हैं और इसे 95 चाय: 5 रंग के पदार्थ के अनुपात में मिलाते हैं।
चाय की गुणवत्ता कम हो तो रंग सामग्री की मात्रा अधिक हो।
लेकिन यह अतिरिक्त रंग इसकी गुणवत्ता को नहीं बढ़ाता है।
इसके अलावा, सुरमा पीना, स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं हो सकता है।
सबसे सस्ता पेय, यहां तक ​​कि सबसे सस्ते पेय पर धोखेबाज़ी, बहुत अनुचित और गैरकानूनी है।
चाय को कलर करने के लिए प्रशिया ब्लू, हल्दी या इंडिगो का भी इस्तेमाल किया जाता है।
इनमें से, प्रशिया नीला निश्चित रूप से विषाक्त है।
यह पता लगाने के लिए कि क्या चाय रंगाई गई है या नहीं, बस अपने हाथ में थोड़ी चाय लें और इसे अपनी उंगलियों के बीच जोर से रगड़ें।
यदि यह आपकी उंगलियों पर एक दाग छोड़ता है, फिर निश्चित रूप से रंग इसके साथ मिलाया गया है।
और यह निम्न गुणवत्ता वाला है।
इसके अलावा खाद्य सुरक्षा विभाग में इस मिलावट की रिपोर्ट करें।
इसी तरह, अगर आप मिलावटी चाय को एक सामान्य कप ठंडे पानी में डालते हैं, तो आप पाएंगे कि पानी सेकंड के भीतर चाय के रंग का हो गया है।
दूसरी ओर शुद्ध चाय को रंग छुड़ाने के लिए उबलना की जरूरत होती है, या , अच्छी चाय ठंडे पानी को रंगने के लिए 5 से 15 minutes लेती है।
हमेशा याद रखें, चाय का रंग अवैध है, और सज़ा योग्य कार्रवाई हो सकती है।

अपनी सुरक्षा के लिए, यह मत करे।


Jaswant Singh

Tea Colouring


Tea Colouring......
First of all, you must remember, tea is one of the rare natural edible items, which does not not go through any chemical during its manufacturing.
Tea is always pure in the tea garden or in the manufacturing unit. No colour or any outside substance is mixed with tea in the factory.
We strictly recommend DO NOT mix any colour with tea.
FSSAI, a Govt body for food safety has put guide lines for mixing permissible chemicals on specific foods like sweets, fruit juice, soft drinks, ice creame etc.
FSSAI 2011 regulation 2.10.1 (1) on Tea clearly states that “The product shall be free from extraneous matter, added colouring matter and harmful substances”
That means tea colouring is illegal.
Some businessmen mix Bismark Brown, Potassium Blue, Turmeric, Indigo, Plumbago etc to make preferred tea color or to look like blooming tea.
Low quality tea or used tea are mixed with colour to look it fresh and enhance its price. Generally Black Lead or Plumbago, काला सीसा in hindi, lead used in pencil is mixed with used or very low quality tea to make it attractive. But this extra colour does not enhance its quality.
Mixing pencil lead or other colouring substance is actually easy. They just buy it in dry form and mix it with at the ratio of 95 tea:5 Coloring substance.
Lower the quality of tea then higher the quantity of colouring ingredients. Moreover, drinking lead can not be good for health.
Avobe all, cheating and deception even on cheapest drinks, is highly inappropriate and illegal.
Prussian blue, turmeric or indigo are also used to colour tea. Out of these, prussian blue is decidedly toxic.
To find out if the tea has been dyed or not, just take little tea in your hand and rub it vigorously between your fingures.
If it leaves a stain on your fingures, be sure that it was coloured and be extremely sure to leave the tea with shop keeper. Further report this adulteration to the food safety department.
Similarly, if you put adulterated tea in a normal cup of cold water, you will find the water has become tea coloured within seconds. On the other hand pure tea needs brewing to disperse colour, or longer time, like 5 to 15 minutes to throw out its natural colour. Always remember, colouring of tea is illegal and may bring penal action.
SO DO NOT DO IT.


Parsuram Singh

चाय का कोवालिटी और दर कैसे समझे ......


यदि आप एक चाय व्यवसायी हैं या चाय व्यवसायी बनना चाहते हैं, तो आपको चाय की गुणवत्ता को समझने के जानकारी होना चाहिए। ताकि जब आप चाय खरीदते हैं, तो आप अच्छी चाय, बेहतर चाय, औसत चाय और विशेष रूप से निम्न गुणवत्ता वाली चाय की पहचान कर सके। गुणवत्ता को समझने का सबसे अच्छा तरीका चाय का स्वाद लेना। लेकिन जब आप चाय खरीदने के लिए थोक बाजार जाते हैं, तो आम तौर पर आपको उनकी दुकानों में चाय परीक्षण सुविधाएं नहीं मिलेंगी। तो यहां आप चाय परीक्षण के वैकल्पिक तरीके उपयोग कर सकते हैं। ये तकनीकें बहुत उपयोगी हैं। सभी खुदरा चाय खरीदारों, खुदरा विक्रेता से अपनी चाय चुनने के लिए इन सभी तकनीकों का उपयोग करते हैं। अच्छी चाय सुगंध खुद ही 1. मीठी सुगन्ध ----- अच्छी चाय में एक अलग ही सुगंध होती है, जो मीठा और बहुत सुंदर है। सुगंध स्वयं ही इसकी सराहना करने के लिए मजबूर करती है। अच्छी गुणवत्ता वाली चाय सुगंध अनोखा है। आपको इस दुनिया की किसी भी अन्य चीज़ में ऐसा सुगंध नहीं मिलेगी। चाय हमेशा अद्वितीय है। जब सुगंध बेहतर, गुणवत्ता अपने आप बेहतर । जब आपको चाय में अलग गंध मिलती है, उदाहरण के लिए हरे पत्ते या सब्जियों की तरह या गैर चाय वस्तुओं की तरह गंध आती है, फिर यह चाय की गुणवत्ता सही नहीं है। फिर या तो यह जानबूझकर या अनजाने में कम सुखाया गया या कुछ अन्य चीजें के साथ मिलाया गया। रूप ------ चाय की रंग काला या भूरे रंग का काला होना चाहिए लेकिन बहुत काला नहीं होना चाहिए। बहुत काला चाय कृत्रिम रूप से बनाई जाती है।। ब्राउन रंग का मतलब है कि ये सेकंडरी चाय या बड़ा बड़ा बूढ़ा पत्ते से चाय बनाया गया है । तो फिर यह कम गुणवत्ता का है। लेकिन याद रखें, सेकंडरी चाय प्राइमरी चाय की तुलना में गुणवत्ता में कम है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इसकी गुणवत्ता कम है। यदि सेकंडरी चाय अच्छी गुणवत्ता वाली प्राइमरी चाय का उपज है तो, यह सेकंडरी चाय भी काफी मात्रा में अच्छी गुणवत्ता वाली होगी। बूढ़ा पत्ते से बनाया गया चाय की दाना में निकलने वाले फाइबर होते हैं। क्योंकि काटने की मशीन इसे ठीक से काट या मोड़ नहीं सकती है। अच्छी गुणवत्ता वाली चाय दाना पर एक चमक या खिलना दिखाएगा। दूसरी तरफ सेकंडरी चाय निष्प्रभ और बिना चमक के होगी । कटाई ----- चाय की दाना पूरी तरह गोल दिखना चाहिए। उसमे किसी भी प्रकार के तन्तु या फाइबर नहीं होना चाहिए। अगर यह चपटा जैसा दिखता है या परतदार की तरह दिखता है, तो यह अच्छी गुणवत्ता का नहीं है। यह गोलाकार दिखाई देगा जब कच्चा पत्ता नरम और छोटे आकार का होगी। और यह पत्ता सही ढंग से मुरझाया गया है और काटने की मशीन सही ढंग से कटौती, मोड़ और कर्ल किया है। वजन ---- चाय की गुणवत्ता का परीक्षण करने के लिए यह और एक प्रभावी तत्काल परीक्षण है। बस अपने हाथ में कुछ चाय लें और फिर दूसरी हाथ में इसी तरह की मात्रा के समान अन्य चाय लें। अब वजन की तुलना करें। लगभग समान मात्रा और आकार के बावजूद, चाय का एक हाथ अधिक वजन होता है, तब वह चाय बेहतर गुणवत्ता का है। सही कीमत पर सही चाय का पता लगाने का आनंद लें। हम चाहते हैं कि आप अपने चाय व्यवसाय में सफल हों।

Subrata Choudhury

Easy technique to test tea.


How to find out quality of tea ......
If you are a tea businessman or want to be a tea businessman, you must have knowledge to understand quality of tea.
So that when you buy tea, you can distinctly identify Good Tea, Better Tea, Average Tea and particularly low quality Tea.
To find out quality of tea, best option is to make a cup of tea, taste and test it, as is done by professional tea taster.
But when you go to a wholesale market to buy tea, good chance is that you will not find tea testing facilities in their shops.
So here you can go for the alternative way of tea testing. These techniques are very effective. All retail tea buyers use all or some of these technique to choose their tea from retailer.
1. Smell-----
Good tea contains a distinct tea aroma, which is sweet and heavenly. The aroma itself should force you to appreciate it. Good quality tea aroma is unparalleled. You will not get similar aroma in any other thing of this planet. If you smell two different type of flowers, you will find some broad similarity in these flowers. But not in case of tea. Its always unique.
Which differs from under withered or tea green leaf. If you find the aroma of tea, smells like vegetables or non tea items, be assured that its not of desired quality. Then either it is underwithered or mixed with something--- intentionally or unintentionally.
Look------
Look of the tea should be blackish or brownish black but not dark black. Overly Dark black is done artificially hence its of low quality.
Brown colour means its secondary tea or over grown leaf were used to make the tea.
So again it is of low quality. But remember, secondary tea is lower in quality than primary tea but that does not mean its truly of low quality. Where as tea made of overgrown leaf will contain fibre protruding from the granules. Because cutting machine could not cut or twist it properly.
Good quality tea will show a glaze or glow or bloom on granules. Alternatively, it will look dull and old.
Cutting-----
Tea granules should look like totally rounded without any protruding fibre. If it looks like flat or looks like flakes, its not at all good quality. This would look rounded when green leaf were of acceptable size, withered or dried correctly and the cutting machine is sharp enough to cut, twist and curl it properly.
Weight----
This is another effective instant test for testing tea quality. Just take some tea in your one hand and then take some other similar grade of tea of similar quantity in the other hand.
Now compare the weight.
If despite almost of same quantity and size, one hand of tea seems more dense, then its better quality then the other tea.

Enjoy finding out right tea at right price.
We want you to succeed in your tea business.


Subrata Choudhury

Tea Testing Tutorials for beginners


If you are in tea business, you can use this technique to select your tea. If your friends are in tea business, you may forward it to them. Tea tasting is a very important part for starting and running a tea business-- successfully. Apparently, its not an easy task. A tea taster can differentiate over 600 different tastes of tea. Full fledged academic courses are there to learn tea tasting. It varies from 45 days to 1 full year. It will definitely be an advantage, if you are a qualified tea taster. You will be able to understand tea quality and its reasonable price immediately. But most probably, tea tasting course is not available in your city, or you may not have time to pursue the course. Do not break down, every person is a tea taster. It is always better to do a course, but if you can not, just follow these guidelines to taste tea. If yo want to follow tea tasting technique use by qualified tea taster, please arrange these small equipments--10 Tea testers' mugs of 100 ML size with lead, 10 Tea Bowls, 10 small tea box, 1 Tea Spoon, 2000 watt Electric kettle, 1 or 2 litre size, A sand watch or electronic stop watch, a electronic scale 20 gram capacity. First of all Put water in electric heater and boil the water. measure each type of tea separately 2 gram each from the tea box with the electronic scale. Put the measured tea in each cup, keep tea box aligned parallel to the cup, so that you can recognise it. After putting 2 grams tea in tester' cup, fill hot boiled water in the cup up to the brink, put the lead on and wait for 5 minutes using electronic watch for tea steeping. Now pour the content of cups to tea bowls and align it to the cups and tea box. But Do not pour the tea leaves on the bowls. Put the leaves on lid of the cup, so that you can check it visually. Now its time for actual tasting. Take the first bowl in your hand, sip a good mouthful of tea, start rolling it on your tongue. As if you are eating the tea. Let your taste bud feel the taste. If you are not sure in the first sip, threw it out in a bucket and take another sip. Repeat the process till its clear to you. But before checking the second cup, check tea leaves on the lid, check its color, fragrance. The more coppery the color is, better the quality. If the green color is visible on the edge of the cup, then the green leaves are not withered properly and its of low quality. After keeping the cup at least for half an hour, check, the cup for colour of tea, does it have a layer of milk like colour? If there is a milky layer or milk like colour then it is of very good quality. But if it is blackish colour then quality is low. When you finished checking all these criteria, then start checking the second cup following same rules. After checking the second cup, if you find it better then first cup then put the cup slightly above the first cup. But if you find it lower quality then first cup put it below the first cup. Again if you find that first and second cups are of same quality then put both the cup in same line. Do this with all the cups. That will help you to remember quality of each cup even after hours. In the beginning, you may not able able to remember all the positive or negative points of testing a tea cup. So better to write it down in a piece of paper------ 1. What is the colour of tea and infused leaf ? 2. Is it bright or dull colour ? 3. Is there any greenish taint at side part of cup ? 4. How does the tea taste ? 5. How does it smell ? 6. Does to smell of any non tea item, even a faint smell ? When you are testing tea, some important things you must remember ---- A. Price of tea must not influence your judgement. B. You are not a professional Tea Taster, You are tasting tea for selecting tea for your business. So find out the taste, which are prefered by your buyers. You may or may not require very high quality tea. You may improvise the equipments with your home cups, water heater, wrist watch etc but 2 gram tea and 5 minutes steeping time must be maintained. You may also mix milk to find out the look of final product.

Sanbhu Charan Ratnakar

चाय का परीक्षण कैसे करें


यदि आप चाय व्यवसाय में हैं, तो आप अपनी चाय खरीद करने के लिए इस तकनीक का उपयोग कर सकते हैं। यदि आपके मित्र चाय व्यवसाय में हैं, तो आप उन्हें बता सकते है। चाय व्यवसाय शुरू करने और सफलतापूर्वक चलाने के लिए चाय जांच करना एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है - । जाहिर है, यह एक आसान काम नहीं है। एक चाय टस्टर चाय के 600 से अधिक विभिन्न स्वाद को अलग कर सकता है। चाय स्वाद सीखने के लिए पूरा अकादमिक पाठ्यक्रम हैं। यह 45 दिनों से 1 वर्ष तक भिन्न होता है। यदि आप एक निपुण चाय टस्टर हैं तो यह निश्चित रूप से एक फायदा होगा। आप चाय की गुणवत्ता और इसकी उचित कीमत तुरंत समझ पाएंगे।   लेकिन सबसे अधिक संभावना है कि चाय परिक्षण कोर्स आपके शहर में उपलब्ध नहीं है, या आपके पास पाठ्यक्रम का पीछा करने का समय नहीं है। टूटना मत, हर व्यक्ति एक चाय टस्टर है। कोर्स करना हमेशा बेहतर होता है, लेकिन यदि आप नहीं कर सकते हैं, तो चाय का स्वाद लेने के लिए इन दिशानिर्देशों का पालन करें। यदि आप चाय चखने की तकनीक का पालन करना चाहते हैं, तो कृपया इन छोटे उपकरणों की व्यवस्था करें - 100 एमएल आकार के, 10 चाय परीक्षण मग, 10 चाय प्याला या चाय का बाउल, 10 छोटे चाय के बक्से, 1 चाय चम्मच, 2000 वाट इलेक्ट्रिक हीटर -- 1 या 2 लीटर आकार, एक रेत घड़ी या इलेक्ट्रॉनिक स्टॉप घड़ी, एक इलेक्ट्रॉनिक पैमाने 20 ग्राम क्षमता। सबसे पहले पानी को हीटर में पानी डालें और पानी उबालें। इलेक्ट्रॉनिक पैमाने के साथ चाय बॉक्स से प्रत्येक प्रकार की चाय को 2 ग्राम अलग से मापें। प्रत्येक कप में मापा हुआ चाय रखें, चाय का बक्सों को कप के सीधा लाइन में रखे, ताकि आप इसे पहचान सकें। टेस्टर कप में 2 ग्राम चाय डालें, फिर कप में उबले हुए पानी को कगार तक भरें, और इलेक्ट्रॉनिक घड़ी का उपयोग करके चाय भिगोने के लिए 5 मिनट तक प्रतीक्षा करें। अब चाय के प्याला या चाय का बाउल में कप की चाय डालें और इसे कप और चाय का बक्सों के सीधा लाइन में रखे। लेकिन प्याला पर चाय के पत्तों को न डालें। पत्तियों को ढक्कन पर रखें, ताकि आप आखोंसे इसका गुणबत्ता कि अनुमान लगा सकें। अभ असल चाय परीक्षण के लिए इये तैयार है। अपने हाथ में पहला प्याला लें, चाय का पूरा एक घूंट लीजिये, अपनी जीभ पर उसे घूमते रहे, जैसे आप उसको खा रहे है। अपने जिव से उसका स्वाद महसूस करते रहे लगभग ३० सेकंड तक। आप अगर पहल घूंट में समज नहीं पाते तो फिर से अरेक घूंट ले ओर पहले की तारा उसको अपने जिब से टेस्ट करे। जब आपको इसका स्वाद स्पष्ट ओर साफ़ हो जाता है तब आप दूसरे कप को टेस्ट करिये । लेकिन दूसरा कप जांचने से पहले, कप बनाने के लिए जो भीगा हुआ चाय पत्ति ढक्कन में रखे ते उसको चेक करे , उसके रंग, सुगंध को जांचें। जितना ज्यादा तांबे का रंग जैसा है तो अच्छा क्वालिटी है । कप के किनारे में हरा रंग दिखाई दे रहा है तो हरा पत्ति ठीक तारा से सुखाया नहीं है । कप को आधा घोंटा रखने के बाद में क्या रंग आता है, काला पड़ता है, या दूध जैसा एक परत आ ता है ? अगर दूध जैसा परत पड़ता है तो बहुत ही अच्छा क्वालिटी है । लेकिन अगर यह काला हो जाता है तो इसकी गुणवत्ता कम है । शुरुआत में आप इन सभी चीजोंको को याद नहीं कर सकते हैं । इन सभी को लिखना बेहतर है इसी लिए इन सभी चीजों को एक कागज में लिखके रखना बेहतर होगा------ 1. चाय और इन्फ्यूज्ड पत्ती का रंग क्या है? क्या यह उज्ज्वल या सुस्त रंग है? या कप के किनारे पर कोई ग्रीनिश टेंट है? 2. चाय का स्वाद कैसा है? 3. यह कैसे गंध करता है? 4. किसी भी गैर चाय वस्तु, की गंध है ? अब आप दूसरी कप चाय का परीक्षण शुरू कर सकते हैं। पहले कप परीक्षण के दौरान किए गए सभी कदम दोहराएं। यदि आपको लगता है कि पहला कप दूसरे कप से बेहतर है, तो कप को दूसरे कप से थोड़ा ऊपर में रखे । लेकिन अगर दोनों कपों का स्वाद बराबर होता है तो दोनों कप एक ही पंक्ति में रखे । दूसरी तरफ, यदि दूसरा कप पहले कप से बेहतर है तो उसे दूसरे कप की लाइन से निचे रखे। मेज पर सभी चाय कप के लिए ऐसा करते रहिये जैसे के बाद में आप ओ लाइन देख के बोल सके, कोण कप कोण कप से बेहतर है ओर कोण कप कोण कप से गुणवत्ता में नीचे है । अंत में दूध मिलाएं। यहां जैसे ज्यादा घरो में दूध मिलाके चाय पीते है, तो आप भी उसी चाय में दूध मिलाके फाइनल चेक करिये, आपका पसंदिता रंग ओर कड़कपन आया है या नहीं । कुछ महत्वपूर्ण चीजें जिन्हें आपको याद रखना चाहिए ---- १ नंबर, चाय की कीमत आपके फैसले को प्रभावित नहीं करेगी। चाय की कीमत ज्यादा हो सकती है लेकिन यह बेहतर गुणवत्ता वाली चाय हो भी सकती है , नहीं भी हो सकती है । आपको टेस्ट करे कैसा लगा, अच्छा या सदर्न क्वालिटी, उसीको हमेसा फाइनल मानिये २ नंबर । आप एक पेशेवर चाय टस्टर नहीं हैं, आप अपने चाय व्यापार के लिए चाय का चयन कर रहे हैं। आपको ओ स्वाद चाहिए, जो आपका खरीदार पसंद करेंगे। आपको बहुत उच्च गुणवत्ता वाली चाय की आवश्यकता हो सकती है या नहीं भी हो सकती है । आप अपने घर के कप, वॉटर हीटर, कलाई घड़ी आदि के साथ उपकरणों को उपयोग सकते हैं लेकिन 2 ग्राम चाय और 5 मिनट भिगोना के समय को बनाए रखा जाना चाहिए। अगर आपको यह पसंद आया है तो कृपया हमें एक like दें और इसे अपने चाय दोस्तों को इसका लिंक भेजे। THANK YOU SIRS.

Syam Sundar Dey

जी एस टी सुरु होने के बाद चाय का ब्यापार कैसे सुरु करे !


हमारे देश , भारत में, चाय बहुत लोकप्रिय है। आप हर जगह चाय स्टाल पाएंगे। मुख्य सड़कों पर, गली में, यहां तक ​​कि गली का गली में भी। सभी रेस्टुरेंट चाय बेचता है। हर घर के सदस्य चाय पीते हैं और हर मान्य मेहमानों को चाय पिलाता हैं। एक चाय व्यवसायी के चाय बाजार बहुतही बड़ा है, उनके लिए चाय को बेचना समस्या नहीं है। दूसरी ओर भारत चाय का सबसे बड़ा उत्पादक है। इसलिए सप्लायर का मिलना, कोई समस्या नहीं है। चूंकि दोनों विक्रेता और खरीदारों प्रचुर मात्रा में हैं, इसलिए कोई भी भारत में चाय व्यवसाय शुरू कर सकता है। इसे एक बड़ा व्यवसाय बनाने के लिए, पहले इन मूल काम में मनोयोग दे। सबसे पहले, अपने शहर के नगरपालिका प्राधिकरण से एक व्यापार लाइसेंस लें। यदि आप अपने नाम या अपनी फार्म के नाम से शुरू करना चाहते हैं, तो उनके फर्म में एक आवेदन करे। आवेदन के साथ, आपको आबेदन में बिजनेस का नाम, पता, किस चीज का बिजनेस, आपके व्यापार प्रतिष्ठान के आकार, अपनी खुद की फोटो आईडी और एक छोटा सा शुल्क जमा करना होगा। यदि आप साझेदारी या कंपनी व्यवसाय शुरू कर रहे हैं तो आपको व्यापार लाइसेंस के लिए साझेदारी दस्तावेज या आर्टिकल्स ऑफ एसोसिएशन जमा करना होगा। आपको नगरपालिका प्राधिकरण से सात दिनों के भीतर अपना व्यापार लाइसेंस मिल जाना चाहिए। अब, आपको जीएसटी पंजीकरण और एक चालू खाता बनाने की आवश्यकता है। जी एस टी दो तरीके के होते है, रेगुलर ओर कम्पोजिट। कम्पोजिट जीएसटी पंजीकरण आपके राज्य के भीतर व्यवसाय करने के लिए है और रेगुलर जीएसटी पंजीकरण पूरे भारत में व्यवसाय करने के लिए है। जैसा कि हमने पहले कहा था, चाय पूरे भारत में बहुत लोकप्रिय है, इसलिए रेगुलर जीएसटी पंजीकरण आपके व्यवसाय के लिए बेहतर होगा। लेकिन यदि आप छोटे पैमाने पर शुरू कर रहे हैं तो कम्पोजिट जीएसटी पर्याप्त है। जीएसटी पंजीकरण में आमतौर पर सात से दस दिन लगते हैं। वे थो---ड़ा सा करा शुल्क लेते हैं। आप स्थानीय बिक्री कर कार्यालय से अपना जीएसटी पंजीकरण कर सकते हैं। अब आपको एक चालू खाता की आवश्यकता है। आप अपनी फार्म के नाम पर बैंक खाता खोल सकते हैं। स्थानीय प्राधिकरण से व्यापार लाइसेंस प्राप्त करने के बाद आप ऐसा कर सकते हैं। यदि आप अपने नामसे खाता खोलना चाहते हैं तो आपको व्यापार लाइसेंस की आवश्यकता नहीं है। सामान्य प्रमाण जैसे आईडी सबूत, फोटो आईडी सबूत और पता प्रमाण पर्याप्त हैं। लेकिन आपके फार्म के नाम पर अपना बैंक खाता खोलना बेहतर है। व्यापार लाइसेंस प्राप्त करने के लिए लगभग सात दिन की आवश्यकता है, जीएसटी पंजीकरण एक और सात दिन और इस 14 दिनों के भीतर, आपका बैंक खाता भी तैयार हो जायेगा। इस 14 दिनों के भीतर, अपनी व्यावसायिक योजनाओं को अंतिम रूप दें। सबसे पहले- - - कई प्रकार की चाय हैं। इनमें सीटीसी, ऑर्थोडॉक्स, हरी चाय, ओलोंग चाय आदि शामिल हैं। सीटीसी, ऑर्थोडॉक्स और हरी चाय सबसे लोकप्रिय हैं। आप किस चाय का ब्यापार करना चाहते हैं?

Ram Pal Satnami
All articles are registered, Copy Write protected.
Andhra Tea,   Bihar Tea,  Chhattisgarh Tea,  Delhi Tea,  Gujarat Tea, Goa Tea, Haryana Tea, Himachal Pradesh Tea, Jammu Kashmir Tea, Jharkhand Tea, Karnataka Tea, Kerala Tea, Maharashtra Tea, Madhya Pradesh Tea, Odisha Tea, Punjab Tea, Rajasthan Tea, Sikkim Tea, Tamil Tea, Uttarakhand Tea, Uttar Pradesh Tea, West Bengal Tea, आसाम चाय,  আসাম চা, ગુજરાતી    SM